पुस्तक का द्वितीय संस्करण फरवरी, 2019 में नए कवर पेज के साथ आ गया है। बहुत रुचि के साथ इसका कवर पेज डिज़ाइन हुआ है जिसमे कई पाठकों के उत्साही चित्र एक कोलाज के रूप में सुशोभित हैं। बहुत लोग छूट भी गए , जिन्हें इसमें शामिल न किया जा सका।

वर्ष 2018 में अमेज़न पर भारतीय भाषा श्रेणी में 5 सर्वाधिक लोकप्रिय पुस्तकों में इस पुस्तक का वजूद रहा।

इस संस्करण में वर्तनी की अशुद्धियां दूर कर दी गयी हैं। कहानी के स्तर पर बिना मूल कहानी या भाव मे परिवर्तन किए जहां जो खटक रहा था या बहाव में बाधा जैसे दिख रहे थे उन्हें हटा कर कहानी को प्रवहमान बना दिया गया है। इससे लज्जत भी बढ़ी है ।पुस्तक को पढ़ने में आसान  बनाने के लिए फॉन्ट साइज भी बढ़ा दिया गया है। पुस्तक के पेज 112 से 120 हो गए हैं। इसका मनोरंजन का तत्व भी बढ़ गया है। पर बिना डुबकी लगाये गहराई आंक पाना मुश्किल होगा। इसलिए एक बार डूब कर देखिए।


दर्द जोड़ता है। सुख तोड़ता है , ईर्ष्या से । दर्द माँजता भी है, करुणा और संवेदना देता है। दर्द महान है, मानवीयता देता है।